Search
  • AASHIV MORE

आखिर क्यू मरके भी आज जिन्दा दिल को जलाया गया ?

Updated: Jul 18, 2020



आखिर क्यू,जो दर्द अपनौने दिया वो कलम की स्याही से तफ्सील होता रहा ।।।।

आखिर क्यू,वादे तो कई किये गए लेकिन वो मुकम्मल नही हो पाए ।।।।।

आखिर क्यू,दिल ने उस्से ही मोहोबत की जो कभी मोहोबत के लायक ही नही बन पाया ।।।।

आखिर क्यू,मुझे इतने गहरे ज़ख़्म देकर भी गलत मुझे ही ठहराया गया ।।।।

मुझे समज नही आता आखिर क्यू ,इंतज़ार किया तेरा उम्र भर जिसे मैंने सदियों में गुज़ार दिया ।।।

आखिर क्यू?

खैर, आज मुझे सजाकर डोली में बिठाया गया

आखिर क्यू मरके भी आज जिन्दा दिल को जलाया गया ?

-AASHIV

#poem#nazam#shayari#couples#love



20 views0 comments

Recent Posts

See All